Glacier

फोटो: Geographical Magazine

अंटार्कटिका के ग्लेशियर में आई दरार, मुंबई पर मंडराने लगा डूबने का खतरा

अंटार्कटिका के ग्लेशियर थवेट्स में दरार आने लगी है, जिससे तबाही आ सकती है। ये ग्लेशियर 170,312 किमी लंबा है। वहीं विशेषज्ञों ने चेतावनी दी है कि अगले पांच सालों में ये ग्लेशियर टूटेगा, जिससे दुनियाभर में समुद्र का जलस्तर 25 इंच तक बढ़ेगा। ऐसे हालातों में मुंबई जैसे तटीय शहर के कई इलाके पानी में समा सकते है। ये बदलाव एक दशक के समय में सामने आ सकते है।

गुरु, 16 दिसम्बर 2021 - 08:15 PM / by रितिका

Tags: Glaciers, glacier meltdown, Glacier Burst, Antarctica

Courtesy: Navbharat Times

Solar Eclipse

फोटो: Times Now

आज दिखेगा इस साल का आखिरी सूर्यग्रहण

दुनियाभर में दिसंबर 4 को इस साल का आखिरी पूर्ण सूर्य ग्रहण दिखाई देगा। यह सूर्य ग्रहण अंटार्कटिका में दिखाई देगा और सुबह 10 बजकर 59 मिनट से शुरू होगा। यह सूर्यग्रहण 4 घन्टे 8 मिनट तक जारी रहेगा। यह इस साल का यह सबसे लंबा सूर्य ग्रहण होगा और दक्षिण अफ्रीका और मानीबिया के साथ दक्षिण ऑस्ट्रेलिया, दक्षिण अमेरिका, प्रशांत महासागर, अटलांटिक महासागर, हिंद महासागर में आंशिक रूप से दिखाई देगा। 

शनि, 04 दिसम्बर 2021 - 09:20 AM / by अजहर फारूक

Tags: solar eclipse, South Africa, Antarctica, Australia

Courtesy: TV9 Bharatvarsh

Ozone

फोटो: Britannica

ओज़ोन परत में हुआ उत्तरी अमेरिका के आकार का छेद

धरती को सूरज की हानिकारक अल्ट्रावायलेट किरणों से बचाने की वाली ओज़ोन परत में अंटार्कटिका के ऊपर उत्तरी अमेरिका के आकार का एक छेद हो गया है। इसका एक वीडियो भी NASA ने जारी किया है। वैज्ञानिकों का मानना है कि यह छेद ग्लोबल वार्मिंग की वजह से हुआ है। हालांकि नवंबर के अंत यह छेद बंद हो सकता है। इस वीडियो के सामने आने के बाद वैज्ञानिकों में हड़कंप मच गया है।

रवि, 14 नवंबर 2021 - 03:40 PM / by अजहर फारूक

Tags: NASA, ozone layer, Antarctica, hole

Courtesy: Aajtak News

Iceberg

फोटो: Bloomberg

दुनिया का सबसे बड़ा आइसबर्ग अंटार्कटिका से टूटकर हुआ अलग

अंटार्कटिका में दुनिया का सबसे बड़ा आइसबर्ग टूटकर अलग हो गया है। ए-76 नाम के इस आइसबर्ग का आकार 4 हजार वर्ग किमी से भी अधिक है, जो न्‍यूयॉर्क के द्वीप पोर्टो रिको का करीब आधा है। इसका पता यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी ने कॉपरनिकस सेंटीनल सेटेलाइट से लगाया है। इसके साथ ही वैज्ञानिकों ने गर्म होते अंटार्कटिका को लेकर चेतावनी भी दी है। वैज्ञानिकों के अनुसार वर्ष 1880 के बाद से अंटार्कटिका का जलस्‍तर करीब 10 इंच तक बढ़ चुका है।

शुक्र, 21 मई 2021 - 10:42 AM / by अभिनव शुक्ला

Tags: Antarctica, glacier meltdown, Iceberg, global warming

Courtesy: Jagran

Antarctica

फोटो: The News Minute

वैश्विक ताप वृद्धि के कारण बढ़ रहा है अंटार्कटिक में बर्फ की परत ढहने का खतरा

एक अध्ययन के अनुसार मौसम में परिवर्तन के कारण तापमान में बढ़ोत्तरी हो रही है | जिसके कारण अंटार्कटिका की बर्फ का एक तिहाई हिस्सा समुद्र में गिरने का खतरा पैदा हो गया है। यदि वैश्विक तापमान पूर्व-औद्योगिक स्तरों से चार डिग्री सेल्सियस अधिक हो तो आइस शेल्फ क्षेत्र समुद्र में गिर सकता हैं, जो अंतरराष्ट्रीय समुद्र-स्तर बढ़ने का कारण बन सकता है। अंटार्कटिका आइस शेल्फ क्षेत्र यानी करीब पांच लाख वर्ग किलोमीटर हिस्से पर अस्थिरता का खतरा मंडरा रहा है।… read-more

शनि, 10 अप्रैल 2021 - 03:20 PM / by अंजलि कुशवाहा

Tags: Antarctica, ice shelf, break, fell in sea, global warming, warmer temprature

Courtesy: Amarujala News

Scientists Find Two Unknown Creatures Under 3000 Feet Of Antarctic Ice

फोटोः PennLive.com

वैज्ञानिकों को अंटार्कटिका की बर्फ के 3000 फ़ीट नीचे मिले अज्ञात जीव

वैज्ञानिकों ने ऐसी जगह जीवन की खोज कर ली है जहां पर जीवन की कल्पना कल्पना अब तक असंभव ही माना जा रहा था। यह खोज ब्रिटिश अंटार्कटिका सर्वेक्षण के शोधकर्ताओं द्वारा की गई है, जिन्होंने इन जीवों को अंटार्कटिका की सतह से 2,860 फीट नीचे और अन्य को 1,549 फीट पानी के नीचे पाया है। वैज्ञानिको द्वारा जारी वीडियो में दो प्रकार के अज्ञात जानवरों को दिखाया गया है। उनमें से एक में लंबे डंठल जैसा है जबकि अन्य एक स्पंज जैसा प्राणी है।

मंगल, 16 फ़रवरी 2021 - 03:27 PM / by राघवेन्द्र गुर्जर

Tags: Scientist, Antarctica, Unknown Species, discovery

Courtesy: India Times

Antarctica Ice Melting

फोटो: Scientific American

क्लाइमेट चेंज के कारण अंटार्टिका में बर्फ़ के पिघलने की गति असामान्य

क्लाइमेट चेंज और ग्लोबल वार्मिंग के कारण अंटार्कटिका के पर्यावरण का संतुलन बिगड़ता जा रहा है, और यहाँ की बर्फ बहुत तेज़ी से पिघलती जा रही है। वैज्ञानिकों के अनुसार जिस गति से यह बर्फ पिघल रही थी वह सामान्य थी, परंतु अब नासा सैटेलाइट सिस्टम के पिछले 20 वर्षों के आंकड़ों के मुताबिक़ ऐसा नहीं है। एनवयार्नमेंटल और जियोडेटिक इंजीनियरिंग के एसिस्टेंट प्रोफेसर ली वेंग ने कहा है कि ''बर्फ की चादरें नियमित दर से नहीं बदल रही हैं, यह बदलाव बहुत जटिल और… read-more

शनि, 06 फ़रवरी 2021 - 04:28 PM / by सौम्या श्रोती

Tags: Antarctica, environment, global warming, Climate Change

Courtesy: NEWS 18